Meri Taqdeer Rone Lagi 2022

Meri Taqdeer Rone Lagi Dekh mera Naseeb मेरी तकदीर रोने लगी, Lahu ke alfaaz dekh TEHREER rone lagi, Tere Hijar me meri halt aisi huyee, surat dekh kar khud Tasveer rone lagi.

Meri Taqdeer Rone Lagi

Dekh Mera Naseeb Meri Taqdeer Rone Lagi,
Lahu Ke Alfaaz Dekh Tehreer Rone Lagi,
Tere Hijar Me Diwane Ki Haalat Aisi Huyi,
Surat Dekh Kar Khud Tasveer Rone Lagi.
देख कर मेरा नसीब मेरी तक़दीर रोने लगी,
लहू के अल्फाज़ देख कर तहरीर रोने लगी,
हिज्र में दीवाने की हालत कुछ ऐसी हुई,
सूरत को देख कर खुद तस्वीर रोने लगी।

Bhale Hi Kisi Ghair Ki Jaagir Thi Woh,
Par Mere Khwabon Ki Tasveer Thi Woh,
Mujhe Milti To Kaise Milti,
Kisi Aur Ke Hisse Ki Taqdeer Thi Woh.
भले किसी ग़ैर की जागीर थी वो,
पर मेरे ख्वाबों की तस्वीर थी वो,
मुझे मिलती तो कैसी मिलती,
किसी और के हिस्से की तकदीर थी वो।

Meri Taqdeer Rone Lagi

Fark Hota Hai Khuda Aur Fakeer Mein,
Fark Hota Hai Kismat Aur Lakeer Mein,
Agar Kuchh Chaho Aur Na Mile Toh Samajh Lena,
Ke Kuchh Aur Achha Likha Hai Takdeer Mein.
फर्क होता है खुदा और फ़क़ीर में,
फर्क होता है किस्मत और लकीर में,
अगर कुछ चाहो और न मिले तो समझ लेना,
कि कुछ और अच्छा लिखा है तक़दीर में।