Eyes Shayari 2022

Eyes Shayari – दोस्तों Best Hindi Shayari बेस्ट हिंदी शायरी के लिए आपका HumariShayari.Com पर सुवागत हैं आज यहाँ आपको आपकी Beautiful Girlfriend Aankhon Ki Shayari मिलेगी जिसे आप Download या Copy करके Whatsapp Status पर Share करे. Eyes Shayari in Hindi With Images, Aankhein Shayari in Hindi जैसी Behatrein Shayari देखने को मिलेगी और Eyes Shayari For Girlfriend in Hindi और Romantics Eyes Shayari Images और Eyes Shayari In Urdu मैं डाली हैं जिसे शेयर करना न भूले। Nigah Shayari in Hindi और Nashily Aankhon Shayari For Whatsapp Dp और Latest New Aankhein Shayari In English Langauge Font Text मैं देखने को मिलेगी ताकि आपको कही और जाने की जरुरत न पड़े.

Eyes Shayari – Aankhon Shayari In Hindi वाले पोस्ट को अपने बहुत पसंद क्या हैं और इसिलय आज हमने आपके लिए Eyes Shayari Photo पोस्ट डाला हैं और नई Shayari on Eyes For Wife, Girlfriend, Husband And Boyfriend के लिए भी मिलेगी और Paise Shayari on Eyes in Hindi For Lovers.

Eyes Shayari

Eyes Shayari

इकरार में शब्दों की एहमियत नहीं होती,दिल के जज़्बात की आवाज़ नहीं होती,आँखें बयान कर देती है दिल की दास्तान,मोहब्बत लफ्जों की मोहताज नहीं होती।

एक सी शोखी खुदा ने दी है हुस्नो-इश्क को,फर्क बस इतना है वो आंखों में है ये दिल में है।

सुना है तेरी आँखों मैं सितारे जगमगाते हैंइजाज़त हो तो मैं भी अपने दिल मै रोशनी कर लों.

दीवाने हैं तेरे, इस बात से इंकार नहीं,कैसे कहें कि हमें तुमसे प्यार नहीं,कुछ तो कसूर है तेरी इन आँखों का,हम अकेले तो गुनहगार नहीं।

होता है राजे-इश्को-मोहब्बत इन्हीं से फाश,आँखें जुबाँ नहीं है मगर बेजुबाँ नहीं।

आँखों से आँखें मिला कर तो देखो,हमारे दिल से दिल लगा कर तो देखो,सारे जहान की खुशियाँ तेरे दामन में रख देंगे,हमारे प्यार पर ज़रा ऐतबार करके तो देखो.

Eyes Shayari 2022

होंठो पर हसी आँखो मे नमी है,हर सांस कहती है बस तेरी ही कमी है।।।

जब नज़र से नज़र मिलती है,तो इश्क की चिंगारी जल उठती है

आँखें नीची हैं तो हया बन गई,आँखें ऊँची हैं तो दुआ बन गई,आँखें उठ कर झुकी तो अड़ा बन गई,आँखें झुक कर उठी तो कदा बन गई।

उसकी कुदरत देखता हूँ तेरी आँखें देखकर,दो पियालों में भरी है कैसे लाखों मन शराब।

Eyes Shayari In Hindi

Eyes Shayari

Shayari On Eyes In Hindi Image
Shayari On Eyes In Hindi Image
वो आंखो मैं काजल वो बालों मैं गजराहथेली पे उसके हीना महकी-महकीये कौन आ गयी दिलरुबा महकी-महकीफ़िजा महकी -महकी हवा महकी-महकी.

वो बोलते रहे… हम सुनते रहे…जवाब आँखों में था वो जुबान में ढूंढते रहे।

साकी को गिला है कि उसकी बिकती नहीं शराब,और एक तेरी आँखें हैं कि होश में आने नहीं देती।

आँखों में हया हो तो…पर्दा दिल का ही काफी है,नहीं तो नक़ाब से भी होते हैं…इशारे मोहब्बत के.

होंठो पर हसी आँखो मे नमी है,हर सांस कहती है बस तेरी ही कमी है।।।

उनकी आँखों का जब-जब मुझपे जादू चलता है, मेरा आशिक दिल एकदम से मचल पड़ता है

हम भटकते रहे थे अनजान राहों में,रात दिन काट रहे थे यूँ ही बस आहों में,अब तमन्ना हुई है फिर से जीने की हमें,कुछ तो बात है सनम तेरी इन निगाहों में।

Eyes Shayari

रात बड़ी मुश्किल से खुद को सुलाया है मैंने,अपनी आँखों को तेरे ख्वाब का लालच देकर।

अपनी आँखों मैं छुपा रखे हैं जुगनू मैंनेअपनी पलकों मैं सजा रखे हैं आँसू मैंनेमेरी आँखों को भी बरसात का मौक़ा दे देसिर्फ एक बार मुलाक़ात का मौक़ा दे दे.

आँखों पर तेरी निगाहों ने दस्तख़त क्या किए,हमने साँसों की वसीयत तुम्हारे नाम कर दी।

Shayari On Eyes

Eyes Shayari

Beautiful Eyes Shayari In Hindi
Beautiful Eyes Shayari In Hindi
इतने सवाल थे कि मेरी उम्र से न सिमट सके,जितने जवाब थे कि तेरी एक निगाह में आ गए।

मेरी निगाह-इ-शौक़ भी कुछ कम नहीं मगर,फिर भी तेरा शबाब तेरा ही शबाब है.

इन सोई हुई आँखों को गुड नाईट कहने आये हैं,जो देख रहे हो उन ख़्वाबों में सलाम कहने आये हैंदुआ है गुज़रे सबसे हसीं ये रात तुम्हारी,बस आज रात यही पैग़ाम देने आये हैं..

आँखों की ये गुज़ारिश है,कि फिर से हो दीदार तुम्हारा .फिर चाहे तुम मिलो ना मिलो,
बस तुम्हारी छवि से गुज़रे जीवन हमारा .

आँखों से आँखें मिला कर तो देखो,हमारे दिल से दिल लगा कर तो देखो,सारे जहान की खुशियाँ तेरे दामन में रख देंगे,हमारे प्यार पर ज़रा ऐतबार करके तो देखो।

Eyes Shayari 2022

खुलते हैं मुझ पे राज कई इस जहान के,उसकी हसीन आँखों में जब झाँकता हूँ मैं।

अपनी तस्वीर को आँखों से लगाता क्या हैएक नज़र मेरी तरफ देख तेरा जाता क्या है

आँखों पर तेरी निगाहों ने दस्तख़त क्या किए,हमने साँसों की वसीयत तुम्हारे नाम कर दी।

इतने सवाल थे कि मेरी उम्र से न सिमट सके,जितने जवाब थे कि तेरी एक निगाह में आ गए।

मेरी निगाह-इ-शौक़ भी कुछ कम नहीं मगर,फिर भी तेरा शबाब तेरा ही शबाब है.